LIC Bima Jyoti Plan in Hindi एलआईसी बीमा ज्योति योजना

Contents

एलआईसी बीमा ज्योति योजना क्या है? Summary of LIC Bima Jyoti Plan

एलआईसी की बीमा ज्योति योजना एक नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टीसिपेटिंग व्यक्तिगत बचत योजना है। यह आपको सुरक्षा के साथ बचत भी प्रदान करती है। पॉलिसी धारक की असमय मृत्यु हो जाने पर यह परिवार को वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इसके साथ ही मैच्योरिटी पर यह पॉलिसी धारक को एक लंप सम अमाउंट का भुगतान करती है। इस योजना पर आप लोन की फैसिलिटी का लाभ उठा सकते हैं। इस योजना को आप एलआईसी की ऑफिशियल वेबसाइट से ऑनलाइन खरीद सकते हैं या फिर इसे एजेंट के माध्यम से ऑफलाइन भी खरीदा जा सकता है। दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से हम एलआईसी की बीमा ज्योति योजना के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं। तो पूरी जानकारी के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें।

योजना का नामएलआईसी बीमा ज्योति योजना
टेबल नंयोजना क्र. 860
यूआईएन नं512N339V01
योजना का प्रकारएंडोमेंट प्लान
प्रारंभ तिथि22 फेब्रुअरी 2021
Summary of LIC Bima Jyoti Plan – Table No. 860

एलआईसी बीमा ज्योति योजना की ख़ास बातें – Features in LIC Bima Jyoti Plan

  • यह पालिसी आपको एक निश्चित इनकम के साथ गारंटीड रिटर्न भी देती है।
  • इस योजना को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यम से खरीदा जा सकता है।
  • इस योजना के तहत आप लोन की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
  • सालाना गारंटीड रिटर्न : इस पालिसी में आपको 50 रुपए प्रति हजार सम एश्योर्ड पर गारंटीड बोनस मिलेगा जो हर साल आपकी पालिसी में जुड़ता रहेगा।
  • इसमें आपको टैक्स की सुविधा का लाभ भी मिलता है।
  • पालिसी अवधि की तुलना में 5 वर्ष कम प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

एलआईसी बीमा ज्योति योजना के तहत होने वाले लाभ – Benefits of LIC Bima Jyoti Plan in hindi

मृत्यु लाभ (Death Benefit in LIC Bima Jyoti Plan)

  • यदि पॉलिसी धारक की मृत्यु जोखिम की तारीख शुरू होने से पहले और पॉलिसी अवधि के दौरान होती है, तो उसके नॉमिनी को राइडर प्रीमियम और अतिरिक्त प्रीमियम को छोड़कर बाकी भुगतान किए गए सभी प्रीमियम को वापस कर दिया जाएगा।
  • यदि पॉलिसी धारक की मृत्यु जोखिम की तारीख शुरू होने के बाद और पॉलिसी अवधि के दौरान होती है, तो उसके नॉमिनी को मृत्यु पर मिलने वाले बीमित रकम के साथ जमा हुए गारंटीड रकम का भुगतान किया जाएगा। यहां पर “मृत्यु पर मिलने वाले बीमित रकम” का अर्थ है,
    • मूल बीमित रकम (Basic Sum Assured) का 125 पर्सेंट या
    • वार्षिक प्रीमियम (Annual Premium) का 7 गुना।

इन दोनों में से जो अधिक हो वो।

यहां पर मृत्यु लाभ (Death Benefit) किसी भी परिथिति में भुगतान किए गए कुल प्रीमियम का 105 परसेंट से कम नहीं होगा। (अतिरिक्त प्रीमियम, राइडर प्रीमियम और टैक्स को छोड़कर)

परिपक्वता लाभ (Maturity Benefit in LIC Bima Jyoti Plan)

अगर पॉलिसी धारक, पॉलिसी के मैच्योर होने तक जीवित रहता है तो उसे मैच्योरिटी पर मिलने वाली बीमित रकम के साथ जमा हुई गारंटीड बोनस का भुगतान किया जाएगा। यहां पर मैच्योरिटी (Maturity) पर मिलने वाली बीमित रकम का अर्थ मूल बीमित रकम (Basis sum assured) है।

सालाना गारंटीड रिटर्न : इस पॉलिसी के तहत प्रति ₹1000 के बीमित रकम पर ₹50 का गारंटीड एडिशन हर पॉलिसी वर्ष के अंत में जुड़ता रहेगा।

टैक्स लाभ (Income Tax Benefit in LIC Bima Jyoti Plan)

पुराने रिजीम के हिसाब से भरे जानेवाले प्रीमियम और मिलनेवाला रिटर्न पर आयकर की धारा 80C के तहत छूट होती है, अधिक जानकारी के लिए आप अपने टैक्स कंसलटेंट से इसपर राय ले सकते हैं।

लोन का लाभ (Loan Benefit in LIC Bima Jyoti Plan)

अगर पालिसी प्रारंभ होने से दो साल तक आपने प्रीमियम का भुगतान किया है तो, इस योजना के तहत आप लोन की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

एलआईसी के बीमा ज्योति योजना में शामिल होने की शर्तें तथा प्रतिबंध – Eligibility conditions and other restrictions in LIC Bima Jyoti Plan

न्यूनतमअधिकतम
बीमित रकम₹1,00,000कोई सीमा नहीं
योजना की अवधि15 – 20 साल
प्रीमियम भुगतान की अवधियोजना की अवधि – 5 साल
पालिसी खरीदने की आयु90 दिन60 साल
मैच्योरिटी की आयु18 साल75 साल
Eligibility conditions and other restrictions in LIC Bima Jyoti Plan

एलआईसी बीमा ज्योति योजना में जोखिम की तिथि Date of commencement of risk under LIC Bima Jyoti Policy

  • अगर पॉलिसी लेते वक्त पॉलिसी धारक की उम्र 8 साल से कम है तो इस प्लान में रिस्क कवर पॉलिसी लेने के 2 साल के बाद से चालू होगा अथवा पॉलिसी धारक के 8 वर्ष पूरा होने पर या फिर पॉलिसी एनिवर्सरी के समय से इन तीनों में से जो सबसे पहले हो तब से।
  • अगर पॉलिसी लेते वक्त पॉलिसी धारक की उम्र 8 वर्ष है तो रिस्क कवर तुरंत शुरू हो जाएगा।

एलआईसी बीमा ज्योति योजना का उदहारण – Example of LIC Bima Jyoti Plan

मान लीजिए राम इस योजना में निम्नलिखित पैरामीटर्स पर निवेश करता है। आइए जानते हैं उसे कितने रिटर्न्स और कौन से लाभ मिलेंगे।

राम की आयु : 40 वर्ष
बीमित रकम : 10,00,000
पालिसी टर्म (बीमा की अवधि) : 15 साल
प्रीमियम पेमेंट टर्म (प्रीमियम भुगतान की अवधि) : 10 साल

इन मापदंडों के अनुसार, राम को सालाना (1,15,667 + टैक्स) के प्रीमियम का भुगतान करना होगा।

राम का रिस्क कवर पालिसी लेने के तुरंत बाद शुरू हो जाएगा, क्योंकि उसकी उम्र 8 वर्ष से अधिक है।

Scenario 1 – अगर 8 साल तक प्रीमियम भरने के बाद राम की मृत्यु हो जाती है तो उसके नॉमिनी को मिलनेवाले लाभ इस प्रकार होंगे,

उसके नॉमिनी को मृत्यु पर मिलने वाले बीमित रकम के साथ हर साल जमा हुए गारंटीड रकम का भुगतान किया जाएगा।

हर साल मिलनेवाला गारंटीड रकम :

50 रूपए का गारंटीड बीमित रकम के हिसाब से उसके योजना में हर साल 50 x 10,00,000 / 100 = 50,000 रूपए जमा होते रहेंगे। तो 8 साल में उसके योजना में 50,000 x 8 = 4,00,000 जमा हो जाएँगे।

यहां पर “मृत्यु पर मिलने वाले बीमित रकम” का अर्थ है, मूल बीमित रकम (Basic Sum Assured) का 125 पर्सेंट या वार्षिक प्रीमियम (Annual Premium) का 7 गुना। इन दोनों में से जो अधिक हो वो होगा।

  • मूल बीमित रकम (Basic Sum Assured) का 125 पर्सेंट = 1.25 x 10,00,000 = 12,50,000
  • वार्षिक प्रीमियम (Annual Premium) का 7 गुना = 1,15,667 x 7 = 8,09,669

यहाँ पर दोनों में से 12,50,000 की रकम ज्यादा है तो राम के नॉमिनी को मृत्यु लाभ के रूप में 12,50,000 + 4,00,000 = 16,50,000 का भुगतान किया जाएगा।

Scenario 2 – अगर राम पूरे पालिसी अवधि अर्थात 20 साल तक जीवित रहता है तो उसे, मच्योरिटी लाभ के रूप में, बीमित रकम के साथ 20 साल तक जमा हुए गारंटीड रकम का भुगतान किया जाएगा।

बीमित रकम = 10,00,000
गारंटीड रकम = 20 x 50,00,000 = 10,00,000

अर्थात राम को 20,00,000 का भुगतान मच्योरिटी लाभ के रूप में किया जाएगा।

एलआईसी जीवन ज्योति योजना मे राइडर्स का विकल्प Riders available under LIC Jeevan Jyoti Plan

एलआईसी जीवन ज्योति योजना के तहत पांच राइडर्स की सुविधा उपलब्ध है। इन राइडर्स को आप एक अतिरिक्त छोटा सा प्रीमियम भरकर खरीद सकते हैं और इसका लाभ उठा सकते हैं। राइडर का प्रीमियम, प्लान के प्रीमियम के अतिरिक्त होगा।

1) एलआईसी दुर्घटना मृत्यु एवं दिव्यांगता लाभ राइडर Accidental death and disability benefit rider

अगर पॉलिसी धारक की किसी दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है, तो उसके नॉमिनी को मूल बीमित रकम के अलावा राइडर का जो बीमित रकम होगा (जो पॉलिसी धारक ने पालिसी लेते समय चुना होगा) उसका भी भुगतान किया जाएगा। अगर पॉलिसी धारक, किसी दुर्घटनावस दिव्यांग हो जाता है, तो उसे अतिरिक्त बीमित रकम मंथली इंस्टॉलमेंट पर अगले 10 सालों तक मिलती रहेगी। इसके अलावा चुने हुए अतिरिक्त बीमित रकम के अनुसार उसकी जो भी भविष्य के Basic Sum Assured (बीमित रकम) के प्रीमियम होंगे, वह माफ कर दिए जाएंगे।

2) दुर्घटना लाभ राइडर Accident Benefit Rider

अगर पॉलिसी धारक की मृत्यु किसी दुर्घटना वर्ष हो जाती है तो उसके नॉमिनी को चुने हुए बीमित रकम का भुगतान किया जाएगा जो कि मूल बीमित रकम के अलावा होगा।

3) न्यू टर्म अस्सुरंस राइडर New Term Assurance Rider

अगर पॉलिसी धारक की मृत्यु हो जाती है, तो उसके नॉमिनी को मूल बीमित रकम के अलावा ट्रेडिशनल रकम का भुगतान किया जाएगा जो उसने राइडर लेते वक्त चुना होगा।

4) नई गंभीर बीमारी लाभ राइडर New Critical Illness benefit Rider

अगर पॉलिसी धारक को इस योजना में दिए गए 15 गंभीर बीमारियों में से कोई भी हो जाती है तो उसे क्रिटिकल इलनेस बीमित रकम का भुगतान किया जाएगा।

5) प्रीमियम वेबर लाभ राइडर Premium Waiver Benefit Rider

इस राइडर के तहत अगर पॉलिसी धारक की मृत्यु हो जाती है तो उसके भविष्य के उसके सारे प्रीमियम माफ कर दिए जाएंगे।

एलआईसी बीमा ज्योति योजना में ग्रेस पीरियड Grace period in LIC Bima Jyoti Plan

वार्षिक अर्द्धवार्षिक और त्रैमासिक प्रीमियम भरने वाले पॉलिसी धारकों के लिए 30 दिन का ग्रेस पीरियड दिया जाता है। और मासिक प्रीमियम भरने वाले पॉलिसी धारकों के लिए 15 दिन का ग्रेस पीरियड दिया जाता है। अगर इसके बाद भी पॉलिसी धारक प्रीमियम का भुगतान नहीं करते तो, पॉलिसी लैप्स हो जाती हैं। पालिसी पर मिलने वाले सारे लाभ रुक जाते हैं।

एलआईसी बीमा ज्योति योजना में रिवाइवल Revival in LIC Bima Jyoti Plan

अगर ग्रेस पीरियड के दौरान भी पॉलिसी धारक प्रीमियम का भुगतान नहीं करते तो उनकी पॉलिसी लैप्स हो जाती है। इस बंद हुई पॉलिसी को 5 साल के भीतर फिर से रिवाइव किया जा सकता है। लेकिन एक शर्त यह है की पॉलिसी धारक को जितने भी प्रीमियम उसने नहीं भरे हैं, उन सब का भुगतान एक साथ करना पड़ेगा। इसके साथ ही उसे इस पर जमा हुए ब्याज का भी भुगतान करना पड़ेगा जो एलआईसी द्वारा तय किए जाते हैं।

एलआईसी बीमा ज्योति योजना में पैड अप वैल्यू – Paid-up Value in LIC Bima Jyoti Plan

अगर पॉलिसी धारक ने पॉलिसी शुरू होने के बाद से 2 साल से कम तक प्रीमियम का भुगतान किया है, और उसके बाद उसने प्रीमियम का भुगतान करना बंद कर दिया। तो इस कंडीशन में ग्रेस पीरियड के बाद को पॉलिसी लैप्स हो जाएगी और पॉलिसी धारक को कोई लाभ नहीं मिलेगा।

अगर पॉलिसी धारक ने कम से कम 2 साल तक प्रीमियम का भुगतान किया हो, और उसके बाद प्रीमियम का भुगतान करना बंद कर दिया है। तो पॉलिसी धारक को डेथ पेड अप बीमित रकम और मेच्योरिटी पेड अप बीमित रकम का लाभ मिलेगा।

एलआईसी बीमा ज्योति योजना में सरेंडर वैल्यू Surrender Value in LIC Bima Jyoti Plan

अगर पॉलिसी धारक ने पॉलिसी प्रारंभ होने से 2 साल तक प्रीमियम का भुगतान किया है, तो उसके बाद वह कभी भी पॉलिसी को सरेंडर कर सकता है। उसको सरेंडर वैल्यू के रूप में गारंटीड सेरेंडर वैल्यू या स्पेशल सरेंडर वैल्यू दोनों में से जो अधिक होगा उसका भुगतान कर दिया जाएगा।

एलआईसी जीवन ज्योति योजना में लोन की फैसिलिटी Loan Facility under LIC Jeevan Jyoti Plan

अगर पॉलिसी धारक ने पॉलिसी प्रारंभ होने से 2 साल तक प्रीमियम का भुगतान किया है तो वह इस पॉलिसी के तहत लोन का लाभ उठा सकता है।

इस पॉलिसी के तहत अधिकतम लोन सरेंडर वैल्यू के परसेंटेज के रूप में दिया जाता है चालू पॉलिसी के लिए सरेंडर वैल्यू का 90% और पेड-अप पालिसी के लिए सरेंडर वैल्यू का 80% लोन दिया जाएगा

एलआईसी बीमा ज्योति योजना में टैक्स लाभ Tax Benefit under LIC Bima Jyoti Plan

इस योजना के तहत भरे जाने वाले प्रीमियम पर आयकर की धारा 188 के तहत पॉलिसी धारक को कर का लाभ मिल सकता ह

एलआईसी जीवन ज्योति योजना में फ्री लुक पीरियड Free Look Period under LIC Jeevan Jyoti Plan

अगर पॉलिसी लेने के बाद पॉलिसी धारक इस योजना से संतुष्ट नहीं है तो वह 15 दिन के भीतर इस योजना को एलआईसी को रिटर्न कर सकता है। अगर उसने इस योजना को ऑनलाइन खरीदा है, तो वह 30 दिन के भीतर इसे वापस कर सकता है है। इसके लिए आपको कारण बताना पड़ेगा कि आप इस योजना को क्यों नहीं लेना चाहते

Leave a Comment